me="viewport" content="width=device-width, initial-scale=1.0" />
Flash News
फलों का राजा आम, गर्मियों में आता है इतने काम   ****    राशिफल 15 अप्रैल 2019   ****    लंच या डिनर में बनाएं लहसुनी मुर्ग   ****    दबंग 3 में भू माफियाओं के खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे सलमान खान   ****    फिल्म ‘PM नरेंद्र मोदी’ को ‘U’ प्रमाण-पत्र, ओमंग कुमार बोले- मुझे पता था…   ****    अक्षय अपने साले करण की पार लगाएंगे नैय्या, ऐसे कर रहे है मदद!   ****    राशिफल 10 अप्रैल   ****    गर्मी में घातक हो सकती हैं ये पांच बीमारियां, जानें इनसे बचाव के तरीके   ****    चिकनपॉक्स के दाग को हटाने के लिए अपनाएं ये उपाय   ****    कंघी करना है बालों के ल‍िए बेस्‍ट एक्‍सरसाइज, जान‍िए किन बातों का रखें ख्‍याल   ****    मलाइका की खूबसूरती का राज हैं नारियल पानी और टमाटर   ****    बांझ बना सकती है गर्भाशय की टीबी, जानिए इसके लक्षणों के बारे में   ****   

मोदी की शिकायत के फैसले पर कांग्रेस का यूटर्न, UP के प्रचार में ‘रमजान-दिवाली’ हावी

February 20, 2017

Modiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘कब्रिस्तान और श्मशान भूमि’ को लेकर दिए गए ‘विवादास्पद’ बयान की निर्वाचन आयोग (EC) से शिकायत करने के फैसले से कांग्रेस पीछे हट गई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि निर्वाचन आयोग को इस पर खुद संज्ञान लेना चाहिए, क्योंकि इसका उसके पास संवैधानिक अधिकार है. वहीं पार्टी की कानूनी शाखा के प्रमुख के सी मित्तल ने कहा कि कुछ वरिष्ठ नेताओं के उपलब्ध न होने के कारण फैसले को रद्द करना पड़ा.

चुनाव आयोग में जाने का फैसला टला
कांग्रेस नेता ने कहा, ‘निर्वाचन आयोग को यह सोचना चाहिए कि मोदी के भाषण पर वह क्या कार्रवाई करेगा, वह कोई आम संस्थान नहीं है. उसने चुनाव से पहले चेतावनी भी दी थी कि वह इस तरह के चुनाव प्रचार की मंजूरी नहीं देगा, जो विभाजनकारी हो.’ शर्मा ने कहा कि मोदी को लोगों को भड़काना नहीं चाहिए औ्रर अस्वीकार्य भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. हालांकि मित्तल ने कहा कि कुछ कठिनाइयां थीं, जिसके कारण कांग्रेस द्वारा निर्वाचन आयोग का दरवाजा खटखटाने के फैसले को रद्द करना पड़ा.

पहले शिकायत के लिए कांग्रेस नेता थे तैयार
उन्होंने कहा, ‘बैठक स्थगित कर दी गई है। सोमवार को यह संभव नहीं है, कुछ कठिनाइयां हैं, हम इसे बाद में देखेंगे. निर्वाचन आयोग के साथ शाम 5.30 बजे बैठक थी और इसकी पुष्टि नहीं की गई. इसके अलावा, हमारे कुछ नेता उपलब्ध नहीं थे.’ यह पूछे जाने पर कि क्या नेताओं के उपलब्ध होने पर पार्टी बाद में निर्वाचन आयोग जाएगी, मित्तल ने कहा, ‘हम इसके बारे में आपको सूचना दे देंगे.’ सोमवार सुबह मित्तल ने कहा था कि हम मोदी के विवादास्पद बयान को लेकर आज निर्वाचन आयोग जाएंगे.

फतेहपुर की रैली में पीएम ने दिया था बयान
गौरतलब है कि पीएम मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश में एक रैली को संबोधित करते हुए राज्य सरकार पर भेदभाव की राजनीति करने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि एक तरफ जहां राज्य सरकार भेदभावपूर्ण नीतियां अपनाती है, वहीं केंद्र में उनकी सरकार की योजनाओं से हर जाति व धर्म के लोगों को लाभ मिलता है, इसमें कोई भेद नहीं किया जाता.

पीएम मोदी ने रविवार को फतेहपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था, अगर एक गांव को कब्रिस्तान के लिए पैसा उपलब्ध कराया जाता है तो उसे श्मशान भूमि के लिए भी पूंजी उपलब्ध कराई जानी चाहिए. अगर आप रमजान पर बिजली आपूर्ति कराते हैं तो आपको दिवाली के लिए भी ऐसा करना चाहिए.

 

Print This Post Print This Post
To toggle between English & Malayalam Press CTRL+g

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read More

Scroll to top