Flash News

जाधव को फांसी: एकसाथ आए बीजेपी-कांग्रेस

April 11, 2017

pak-newभारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में फांसी की सजा पर कांग्रेस और बीजेपी ने एक सुर में निंदा की है। दोनों दलों ने आपसी मनमुटाव को भुलाकर पाकिस्तान से जाधव को तुरंत रिहा करने की मांग की है। बीजेपी ने तो पाकिस्तान को कठोर प्रतिक्रिया की चेतावनी तक दे डाली। वहीं, कांग्रेस ने पीएम नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि वह जाधव की रिहाई के लिए पाकिस्तान पर कूटनीतिक दबाव बढ़ाएं।

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पी. चिदंबरम ने कहा कि पूरी दुनिया जाधव मामले में पाकिस्तान के ‘ढोंगी न्याय’ को जानती है। उन्होंने कहा, ‘हम पाकिस्तान में घटित घटना की निंदा करते हैं। हमें उम्मीद है कि अच्छी बातें सामने आएंगी। पाकिस्तानी सैन्य अदालत द्वारा जाधव को दी गई मौत की सजा को अमल में नहीं लाया जाएगा।’ चिदंबरम ने पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज का पिछले साल दिसंबर में दिए बयान का हवाला देते हुए कहा कि अजीज ने कहा था कि जाधव के खिलाफ मामला चलाने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं।

उन्होंने कहा, ‘शुरू में जाधव के खिलाफ कोई सबूत नहीं होने की बात कही गई, लेकिन अब उन्हें फांसी की सजा सुना दी गई और वह भी सैन्य अदालत में। इसमें काफी संदेह है और कार्यवाही में बड़ा गैप है।’ चिदंबरम ने कहा कि दुनिया जानती है कि ‘कंगारू ट्रायल’ क्या है। जाधव मामले में पाकिस्तान का ‘ढोंगी न्याय’ दुनिया के सामने आ चुका है। उन्होंने कहा, ‘पूरा देश पाकिस्तान के इस ‘कंगारू ट्रायल’ की निंदा कर रहा है।’

उधर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहनवाज हुसैन ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जाधव को फांसी की सजा दी जाती है तो पड़ोसी देश को कड़ी कार्रवाई के लिए तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान को जाधव को मौत की सजा देने का कोई अधिकार नहीं है। अगर पाकिस्तान ऐसा करता है तो उसे भारत की तरफ से कठोर कार्रवाई के लिए तैयार रहना चाहिए।’

केंद्रीय मंत्री वेकैंया नायडू कहा कि अगर जाधव को फांसी दी जाएगी तो पूरी दुनिया में उसकी निंदा होगी। उन्होंने कहा, ‘हम उनके नगारिकों को रिहा करते हैं, लेकिन वे अपनी पुरानी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। पूरी दुनिया देख रही है कि क्या हो रहा है। पूरी दुनिया इसकी आलोचना करेगी।’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सूरजेवाला ने कहा कि जाधव को दी गई फांसी की सजा भारत को भड़काने वाला है। बीजेपी सरकार को आगे बढ़कर कार्रवाई करने की जरूरत है। पीएम मोदी को जाधव की सुरक्षित रिहाई के लिए हस्तक्षेप करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत को पाकिस्तान पर अंतरराष्ट्रीय कूटनीतिक दबाव बढ़ाने की जरूरत है। सूरजेवाला ने कहा कि भारत को बिना बताए जाधव के ट्रायल का आगे बढ़ाना सही नहीं है। यह पाकिस्तान के ‘कंगारू कोर्ट जस्टिस’ को सामने लाता है।

पीटीआई
हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए मलयालम डेयीली न्यूज़ के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

Print This Post Print This Post
To toggle between English & Malayalam Press CTRL+g

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read More

Scroll to top