Flash News
സൗദി അറേബ്യയില്‍ മലയാളി ദമ്പതികള്‍ ദുരൂഹ സാഹചര്യത്തില്‍ മരിച്ചു; പോലീസ് അന്വേഷണമാരംഭിച്ചു   ****    ഏറെ കൊട്ടിഘോഷിച്ച് ആരംഭിച്ച സ്മാര്‍ട്ട് സിറ്റി പദ്ധതി പൂട്ടിക്കെട്ടുന്നു; കേരളത്തിന് കോടികളുടെയും ലക്ഷം തൊഴിലവസരങ്ങളും നഷ്ടം   ****    നടിയെ ആക്രമിച്ച കേസ്; വിചാരണ റദ്ദാക്കാനുള്ള തന്ത്രവുമായി ദിലീപ്; ഹൈക്കോടതിയില്‍ ഹര്‍ജി നല്‍കാന്‍ തയ്യാറെടുക്കുന്നു   ****    നോട്ട് നിരോധനം കൊണ്ട് ആര്‍ക്കും പ്രയോജനമുണ്ടായില്ലെ; ബിജെപിയുടെയും മോദിയുടേയും വാദങ്ങള്‍ പൊളിയുന്നു   ****    കമല്‍ഹാസന്റെ രാഷ്ട്രീയ പാര്‍ട്ടി പ്രഖ്യാപനം ഇന്ന് മധുരൈയില്‍ നടക്കും; ആകാംക്ഷയോടെ രാഷ്ട്രീയ ലോകം   ****   

स्विटजरलैंड में चाय-पकौड़े, वडा पाव और डोसा ! WEF से पहले हर तरफ भारत के नजारे

January 22, 2018 , प्रीतम कपूर

_India-marks-its-presence-at-Davos_SECVPF

दावोस। स्विट्जलैंड के बर्फ की पहाड़ियों से घिरे दावोस शहर में फिलहाल हर तरफ भारत के नजारे दिख रहे हैं। एक समय में स्वास्थ्य पर्यटन और स्कीइंग के लिए जाना जाने वाला यह नगर वर्तमान में दुनिया के सबसे संभ्रांत लोगों के जमावड़े का स्थान बना हुआ है।

दरअसल, विश्व आर्थिक सम्मेलन के आयोजन के दौरान एक हफ्ते तक यहां दुनिया के बड़े-बड़े नेता, अर्थवेत्ता विश्व आर्थिक मंच की बैठक में हिस्सा लेंगे। वर्ष 1971 से हर साल जनवरी में विश्व आर्थिक मंच की बैठक यहां हो रही है और इस साल यह उसकी 48वीं वार्षिक बैठक है।

तीन हजार नेता, 2 हजार पत्रकार
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी एक बड़े प्रतिनिधिमंडल के साथ इस बैठक में भाग लेंगे। इसके चलते शहर में सुरक्षा कर्मियों की संख्या बढ गई है क्योंकि पांच दिन के इस कार्यक्रम में दुनिया भर के करीब 3,000 नेताओं के शामिल होने की संभावना है। इसके अलावा 2,000 से ज्यादा पत्रकार भी यहां जुटने वाले हैं।

महाराष्ट्र और आंध्र सरकार ने बनाए केंद्र
इस शहर की ऊंची-ऊंची बिल्डिगों के ऊपर और चलती-फिरती बस पर, इस समय हर ओर बस भारत और भारतीय कंपनियों के विज्ञापन ही दिखाई देंगे। भारत सरकार ने तो यहां अपना लॉन्ज स्थापित किया ही है, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र सरकार ने भी अपने केंद्र यहां बनाए हैं। वहीं वैश्विक कंपनियों से अलग कुछ भारतीय कंपनियों ने भी अपने केंद्र यहां स्थापित किए हैं।

भारी हिमपात से बढ़ी ठंड
पांच दिन चलने वाली विश्व आर्थिक मंच की बैठक इस साल बहुत बड़ी है। उसी तरह हिमपात भी इस समय बहुत ज्यादा हो रहा है। आज पहले दिन कई सड़कें बंद रही और बाकी जगह पर भारी जाम देखने को मिला।भारत के प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने भी ट्विटर पर हिमपात और दावोस पहुंचने की तस्वीर शेयर की।

केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि पीएम मोदी के क्रांतिकारी और अपरंपरागत सुधारों से वैश्विक निवेशकों में भारत में निवेश के प्रति रूझान पैदा किया है।

चाय-पकौड़े, वडा पाव और डोसा !
संकरी सड़कों के इस शहर की सड़कें और भी संकरी हो चली हैं क्योंकि हिमपात अपने चरम पर है जिससे सड़क के दोनों तरफ बस बर्फ ही बर्फ दिख रही है। ऐसे ठंडे मौसम में यहां चाय और पकौड़े की मांग सबसे ज्यादा बनी हुई है, वहीं वडा पाव और डोसा भी लोगों के बीच विशेष पसंद किया जा रहा है।

स्कीइंग और स्वास्थ्य पर्यटकों का जमावड़ा
हालांकि, शहर में हर तरफ काले कोट पहने अधिकारी दिख रहे हैं जो मंच की वार्षिक बैठक के लिए आए हैं लेकिन इसके बावजूद स्कीइंग और स्वास्थ्य पर्यटकों का यहां जमावड़ा लगा हुआ है।

कई अन्य भारतीय लोगों ने दावोस में विश्व आर्थिक मंच के आयोजन पर ट्विटर पर प्रतिक्रियाएं दी हैं। एक नजर:

भारतीय उद्योग परिसंघ के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा कि विश्व आर्थिक मंच पर भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूती दिखेगी। बनर्जी भारतीय और वैश्विक निवेशकों में सकारात्मकता के प्रति भी आश्वस्त दिखे।

अभिनेता शाहरुख को भी मिला पुरस्कार
भारतीय अभिनेता शाहरुख खान को भी विश्व आर्थिक मंच द्वारा 24वें क्रिस्टल अावार्ड के लिए चुना गया है। शाहरुख को यह पुरस्कार अभिनेत्री एल्टन जॉन के साथ संयुक्त रूप से दिया गया है। शाहरुख ने ट्विटर पर इस अवार्ड और विश्व आर्थिक मंच के प्रति आभार जताया।

Print This Post Print This Post
To toggle between English & Malayalam Press CTRL+g

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read More

Scroll to top