Flash News

सीमा पर भारत से मुंहतोड़ जवाब मिलने से बौखलाया PAK, भारतीय राजनयिक को किया तलब

February 15, 2018 , राम कृष्ण

pak_1518719427_618x347

सुंजवां आर्मी कैंप पर आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान को भारत की कार्रवाई का डर सता रहा है, लेकिन फिर भी वो न तो अपनी करतूतों से बाज आ रहा है और न ही गीदड़भभकी बंद करने का नाम ले रहा है. वह लगातार सीमा पर सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है और आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा है.

सुंजवां आर्मी कैंप पर आतंकी हमले के बाद रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी थी, जिसके बाद से वह लगातार गीदड़भभकी दे रहा है. सीतारमण ने बिना किसी लागलपेट के सीधे तौर पर कहा था कि सुंजवां आर्मी कैंप पर हमले के पीछे पाकिस्तान का हाथ है. पाकिस्तान को इस दुस्साहस की कीमत चुकानी ही होगी.

सीतारमण के बयान से तिलमिलाए पाकिस्तान ने गुरुवार को एक बार फिर से कहा कि वह भारत की किसी भी सैन्य कार्रवाई से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है. साथ ही सुंजवां आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले में अपनी भूमिका होने से इनकार किया है.

पाकिस्तान के रक्षामंत्री खुर्रम दस्तगीर खान के बाद अब वहां के विदेश विभाग के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने कहा कि अगर भारत आक्रमण करता है, तो पाकिस्तान अपनी सुरक्षा करने में सक्षम है. इसके लिए पाकिस्तान को किसी से इजाजत लेने की जरूरत नहीं है. अगर भारत शांति चाहता है, तो उसको आक्रामक बयानबाजी से बचना चाहिए.

PAK बोला- बिना सबूत के भारत ने लगा दिया आरोप

पाकिस्तानी प्रवक्ता ने कहा कि भारत बिना किसी सबूत के आतंकी हमलों का आरोप सीधे-सीधे पाकिस्तान पर लगा देता है. सुंजवां आतंकी हमले पर भी ऐसा ही हुआ है. भारत ने बिना किसी सबूत के पाकिस्तान पर आरोप लगा  दिया है. इससे पहले मंगलवार को रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की चेतावनी पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तानी रक्षामंत्री खुर्रम दस्तगीर खान ने कहा था कि पाकिस्तान किसी भी दुस्साहस पर भारत को उसी की भाषा में जवाब देगा.

खान ने कहा था कि बिना तथ्यों को प्रमाणित किए फौरन आरोप लगाने के बजाए भारत को पाकिस्तान के खिलाफ सरकार प्रायोजित जासूसी पर जवाब देना चाहिए. दरअसल, पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने शनिवार को जम्मू के सुंजवां सैन्य शिविर पर हमला किया था. इसमें छह सैनिक शहीद हो गए थे और एक नागरिक की जान चली गई थी. इसके बाद रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को सैन्य कैंप पर हमले के लिए पाकिस्तान पर आरोप लगाया था और सख्त लहजे में चेतावनी दी थी कि पाकिस्तान इस ‘दुस्साहस’ की कीमत चुकाएगा.

पाकिस्तान ने भारतीय राजनयिक को किया तलब

भारतीय सुरक्षा बल सीमा पर पाकिस्तान की करतूत का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं. इससे पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. गुरुवार को सीमा पर भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने भारतीय उप-उच्चायुक्त जेपी सिंह को तलब किया. पाकिस्तान ने कहा कि भारत ने बिना उकसावे के नियंत्रण रेखा (LoC) पर फायरिंग की, जिसके चलते स्कूली बच्चों को लेकर जा रही वैन के ड्राइवर सर्फराज अहमद की मौत हो गई.

कुपवाड़ा के CRPF कैंप पर आतंकी हमला

सुंजवां आर्मी कैंप और श्रीनगर के सीआरपीएफ कैंप के बाद गुरुवार को आतंकियों ने कुपवाड़ा के अवंतीपुरा के CRPF कैंप पर हमला बोला दिया. यह कैंप अवंतीपुरा के पंजगाम रेलवे स्टेशन के नजदीक स्थित है. आतंकियों की फायरिंग के बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को चारों ओर से घेर लिया है. देर रात तक आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच भीषण गोलीबारी जारी रही. साथ ही सुरक्षा बल इलाके में तलाशी अभियान भी चला रहे हैं.

पाकिस्तान ने कृष्णा घाटी में सीजफायर तोड़ा

जहां एक ओर आतंकी अवंतीपुरा के CRPF कैंप पर फायरिंग कर रहे हैं, तो दूसरी ओर जम्मू के पुंछ जिले की कृष्णा घाटी में नियंत्रण रेखा (LoC) पर पाकिस्तान ने सीजफायर तोड़ा. पाकिस्तान की ओर से फायरिंग की जा रही है और गोला दागे जा रहे हैं. इसका भारतीय सुरक्षा बल मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं.

पाकिस्तानी सेना सीजफायर का उल्लंघन कर भारतीय जवानों का ध्यान भटकाने की कोशिश करती है, ताकि सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ करा सके. हाल ही में पाकिस्तान पुंछ, राजौरी सेक्टर, कृष्णा घाटी समेत अन्य सीमावर्ती इलाकों में कई बार सीजफायर का उल्लंघन कर चुका है.

LoC पर अब तक पाक के 20 जवानों की मौत

भारतीय सेना ने साल 2018 में पाकिस्तान सीमारेखा पर सतर्कता दिखाते हुए संघर्ष विराम का जवाब दिया है. भारतीय सेना की इस कार्रवाई में अब तक 20 पाक सैनिकों की मौत हुई है. इसके अलावा सात पाक सैनिक गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं. भारतीय सेना पाकिस्तानी सीमा में तीन किमी अंदर तक सैन्य ठिकानों को निशाना बनाती है. सूत्रों के मुताबिक कम से कम 375-400 आतंकी घुसपैठ की ताक में हैं. वहीं, घाटी में जारी भारतीय सेना के ऑपरेशन ऑलआउट में 218 आतंकी मारे जा चुके हैं.

Print This Post Print This Post
To toggle between English & Malayalam Press CTRL+g

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read More

Scroll to top