Flash News

जुलाई में नई नौकरियों का बना रेकॉर्ड: रिपोर्ट

September 25, 2018

170128-women-employment

नई दिल्ली : जुलाई महीने में रोजगार के करीब 14 लाख नए अवसर सृजित हुए हैं। यह आंकड़ा पिछले 11 महीनों में सबसे ज्यादा है। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) की रिपोर्ट में इसका दावा किया गया है। रिपोर्ट कहती है कि अब सितंबर 2017 से एंप्लॉयीज स्टेट इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन (ESIC) के नए सब्सक्राइबर्स की संख्या बढ़कर 1.34 करोड़ हो गई है।

इस वर्ष जुलाई महीने में ESIC की ओर से चलाई गई स्वास्थ्य बीमा योजना से 13.97 लाख नए सदस्य जुड़े। सीएसओ रिपोर्ट के मुताबिक, मासिक आधार पर यह संख्या सितंबर 2017 से अब तक किसी एक महीने में सबसे अधिक है। यह रिपोर्ट ESIC, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) और पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) की सामाजिक सुरक्षा योजना में नामाकंन पर आधारित है।

हालांकि, आंकड़े से संकेत मिलता है कि जुलाई में बीमति व्यक्तियों (जिनका बीमा हुआ है) या ESIC में नामांकित वर्करों की संख्या 2.77 करोड़ थी जो सितंबर 2017 की 2.95 करोड़ संख्या से थोड़ा कम है। हर वैसी संस्था एंप्लॉयमेंट स्टेट इंश्योरेंस ऐक्ट, 1948 के दायरे में आती है जिसमें 10 या 10 से ज्यादा लोग काम करते हैं। हालांकि, स्वास्थ्य और चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े संस्थानों के लिए यह सीमा 20 या 20 से अधिक कर्मचारियों की है। गौरतलब है कि जिन कर्मचारियों का वेतन 21,000 रुपये तक है, उन्हें इस कानून के तहत बीमा सुविधा मुहैया कराना अनिवार्य है।

सीएसओ की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस योजना से जुड़े लोगों से औपचारिक क्षेत्र में रोजगार के स्तर का भी पता चल जाता है। EPFO के नेट पेरोल का हवाला देते हुए इसमें आगे कहा गया है जुलाई महीने में नया रोजगार सृजन पिछले 11 महीने में सबसे ज्यादा होकर 9.51 लाख तक पहुंच गया। इस तरह सितंबर 2017 से नए नामांकन की कुल संख्या 61.81 लाख हो चुकी है।

EPFO उन सभी संस्थानों को कवर करता है जहां 20 या 20 से अधिक लोग काम करते हैं। इसके अलावा, उसके अधीन कुछ ऐसे भी संस्थान आते हैं जहां 20 से कम लोग काम करते हैं। ईपीएफओ की सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ हर उस कर्मचारी को मिलता है जिसका मासिक वेतन 15,000 रुपये तक है। सीएसओ के मुताबिक, जिन लोगों का वेतन 15,000 रुपये से ज्यादा है, वे इस योजना से मुक्त हैं या कुछ अनुमतियों के साथ उनका नामांकन हो सकता है या अपनी मर्जी से इसमें योगदान दे सकते हैं।

सीएसओ रिपोर्ट के मुताबिक, सितंबर 2017 से जुलाई 2018 तक नैशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) के सब्सक्राइबर्स की नई कुल अनुमानित संख्या 6 लाख 48 हजार 779 है। ध्यान रहे कि PFRDA की नैशनल पेंशन स्कीम में आसानी से एनरॉलमेंट किया जा सकता है, इसकी लागत भी कम है, टैक्स की भी बचत होती है।

Print This Post Print This Post
To toggle between English & Malayalam Press CTRL+g

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read More

Scroll to top