Flash News

संकट में फंसी IL&FS बेचेगी 25 संपत्तियां, जुटाएगी 300 अरब रुपए

September 25, 2018

ilfs-ll

नई दिल्ली :  संकट में फंसी ढांचागत क्षेत्र के आईएलऐंडएफएस समूह के शीर्ष प्रबंधन ने कंपनी को पटरी पर लाने की रणनीति पर चर्चा करने के लिए बैठक की। अगले साल तक कंपनी को कर्ज भुगतान में 250 अरब रुपए की कमी होगी, वहीं उसका नकदी प्रवाह सिकुड़ रहा है। समूह के शीर्ष प्रबंधन ने 25 संपत्तियों को बेचकर 300 अरब रुपए जुटाने और साथ ही 250 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से राइट्स निर्गम के माध्यम से 45 अरब रुपए जुटाने की योजना बनाई है।

आईएलऐंडएफएस प्रबंधन अपने प्रमुख शेयरधारक जापान की ओरिक्स कॉर्पोरेशन के साथ कंपनी में पूंजी लगाने पर बातचीत कर रहा है। कंपनी को लगता है कि अगर कोई शेयरधारक राइट निर्गम से पीछे हटता है तो ऐसी स्थिति में ओरिक्स मदद कर सकती है। सूत्रों ने कहा कि आईएलऐंडएफएस कर्मचारियों के पास 10 फीसदी और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के 7.6 फीसदी हिस्सेदारी है, जो संभावत: राइट निर्गम में निवेश नहीं करना चाहेंगे।

कंपनी का तीसरा डिफॉल्ट 
आईएलऐंडएफएस का संकट और गहरा गया है। उसकी सहयोगी कंपनी आईएलऐंडएफएस फाइनेंशियल सर्विसेज वाणिज्यिक प्रतिभूतियों पर सोमवार को किए जाने वाले ब्याज के भुगतान में नाकाम रही। कंपनी ने शेयर बाजारों को यह सूचना दी है। लेकिन उसने डिफॉल्ट राशि का खुलासा नहीं किया। एक महीने में यह तीसरा मौका है जब कंपनी समूह ऋण अदायगी में नाकाम रहा है। कंपनी ने कहा कि पुनर्भुगतान की तिथि से छह महीने तक वह वाणिज्यिक प्रतिभूतियां जारी नहीं कर सकेगी।

Print This Post Print This Post
To toggle between English & Malayalam Press CTRL+g

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read More

Scroll to top