बेहतर स्वास्थ्य के लिए तुलसी खाना शुरू करें

आज देवउठनी एकादशी है और कल तुलसी विवाह होगा। वैसे तुलसी के पौधे को आयुर्वेद और हिन्दू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। आपको बता दें कि तुलसी में कई औषधीय गुण होते हैं। जी दरअसल तुलसी मुख्यतः तीन प्रकार की होती हैं- कृष्ण तुलसी, सफेद तुलसी तथा राम तुलसी जिसमें से कृष्ण तुलसी सर्वप्रिय मानी जाती है। जी हाँ और सभी तुलसी में एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी फंगल, एंटी फ्लू, एंटी बैक्टेरियल के साथ-साथ विटामिन ए, विटामिन सी, जिंक और आयरन जैसे पोषक तत्व भी होते हैं। अब आज…

पार्टी में जाने से पहले ऐसे करें मेकअप

अगर आप पार्टी में जा रहीं हैं और आपको समझ नहीं आ रहा मेकअप कैसे करना है तो आज हम आपको देने जा रहे हैं कुछ आसान टिप्स। इन टिप्स के जरिये आप बहुत अच्छे से मेकअप कर सकती हैं। फेसवाश/ फेस क्लींजिंग- पार्टी मेकअप की शुरुआत करने का सबसे पहला चरण है, चेहरे से गंदगी और अशुद्धियों को साफ करना। जी हाँ और अगर चेहरा साफ नहीं रहा, तो मेकअप लुक खिलकर नहीं आ सकता है। इस वजह से फेस क्लींजिंग के लिए क्लींजिंग मिल्क या अपनी त्वचा के अनुसार…

अपनी स्किन को स्ट्रेस फ्री करने के लिए दीपिका का जापानी तनाका मसाज

‘ससुराल सिमर का’ के जरिए घर घर तक पहचान बनाने वाली दीपिका कक्कड़ अपनी स्किन को लेकर काफी सजग रहती हैं। कितना भी बिजी दिन क्यों न हो वह त्वचा को रिलैक्स करना बिलकुल नहीं भूलतीं। वैसे उनके स्किन केयर रूटीन में कुछ महंगा या भारी भरकम प्रोसीजर कम और ऐसी चीज ज्यादा शामिर है, जो जापान की महिलाओं की खूबसूरती का भी राज है। दीपिका कक्कड़ जापानी तनाका मसाज का सहारा लेती हैं। ये एक ऐसी मसाज है जिसमें हाथों को चेहरे पर इस तरह रब किया जाता है…

बिना मूव किए शरीर को बनायें मजबूत

एक्सरसाइज शब्द सुनते ही हर कोई अनुमान लगाने लगता है कि बहुत मेहनत करनी पड़ेगी और पसीना बहाना पड़ेगा। लेकिन क्या आप जानते हैं आइसोमेट्रिक्स एक्सरसाइज बिल्कुल अलग है। इससे आप अभी इस लेख को पढ़ते हुए बैठे-बैठे कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर, नमस्कार करने की मुद्रा में आइए और दोनों हाथों को से प्रेशर दीजिए। 10 सकेंड्स तक इस मुद्रा में रहिए। आप अपने छाती और बांहों में प्रेशर महसूस करेंगे। ऐसा करने के दौरान आपके शरीर में बैठे-बैठे ही टहलने के बराबर ऊर्जा का संचार हो…

मेडिसिन का काम करते हैं चटपटे मसाले

जब बात मसालेदार खाने की आती है तो भारतीय व्यंजन सबसे पहले याद आते हैं। यहां बिना मसाले के खाने को रूखा सूखा माना जाता है। इतना ही नहीं जब मसाले की बात आती है तो सबसे पुरानी चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद का भी जिक्र होता है। इसमें मसालों के औषधीय गुणों को बताया गया है। जिसके फायदों को कोरोना काल के समय पूरी दुनिया ने माना है। मसालेदार खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है या नहीं? आयुर्वेद पहले से ही मसालों को सेहतमंद मानते आया है। मसालों की मदद…

मोलर गर्भधारण बन सकता है समस्या का कारण

मोलर गर्भधारण, गर्भावस्था की एक दुर्लभ समस्या को कहा जाता है। यह समस्या गर्भाधान के दौरान निषेचन में किसी प्रकार की गलती या कमी रह जाने के कारण उत्पन्न होती है, जिस कारण से नाल का निर्माण करने वाली कोशिकाओं में खराबी आ जाती है। मोलर गर्भधारण मोलर गर्भाधान को कभी-कभी हाइडेटिडिफॉर्म मोल भी कहा जाता है। जो कि गेस्टेशनल ट्रोफोब्लास्टिक ट्यूमर्स नाम की कई स्थितियों के समूह का एक हिस्सा होता है। सामान्यत: ये हानिकारक नहीं होते हैं। यह गर्भाशय से आगे तक भी फैल सकते हैं। हांलाकि इनका…

सेब स्‍वास्‍थ्‍य के लिए किसी उपहार से कम नहीं, बस समस्‍या के अनुसार इसे खाने का तरीका अलग

कहते हैं कि रोज एक सेब खाने से कभी डॉक्‍टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ती। जी हां, ये बात बिलकुल सच है कि सेब में इतने पोषक तत्‍व मौजूद होते हैं कि ये आपको हर बीमारी से बचाकर रखता है। इसमें कैलोरी कम होती है जो कि वजन घटाने में मदद करता है और डायबिटीज के खतरे को कम करने के साथ-साथ सेब आपके दिल को भी हेल्‍दी रखता है। शायद यही वजह है कि फलों में सेब को इतना पसंद किया जाता है। हम सभी जानते हैं…

डेंगू आज के समय में भी गंभीर बीमारी है, हर साल होती हैं करोड़ों मौत

16 मई को हर साल स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा डेंगू दिवस मनाया जाता है। किसी भी दिन को मानाने के पीछे का कारण उस बीमारी को लेकर लोगों में जागरूकता पैदा करना होता है। भारत में डेंगू का एक समय आता है, जब इस बीमारी का खतरा रहता है। यह बीमारी मॉनसून के समय आती है और इसी समय सबसे ज्यादा लोग इस बीमारी से पीड़ित होते हैं। मॉनसून के साथ डेंगू के मच्छरों के पनपने का मौसम भी शुरू होता है। सरकार इस बीमारी को लेकर अब…

डिप्‍थीरिया की समस्‍या से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

डिप्‍थीरिया एक गंभीर संक्रामक बीमारी है जो कि संक्रमित व्‍यक्‍ति के खांसने या छींकने पर निकले बैक्‍टीरिया के शरीर में प्रवेश करने पर होेती है। ये बैक्‍टीरिया मुंह के अलावा नाक या आंख से भी शरीर में घुस सकता है। अधिकतर मामलों में ये बैक्‍टीरिया गले में ही रहता है और इसके लक्षण बहुत सामान्‍य होते हैं। डिप्‍थीरिया के लक्षण विषाक्‍त पदार्थों के कारण पैदा होते हैं और ये रक्‍त वाहिकाओं के जरिए पूरे शरीर में फैल जाते हैं। डिप्‍थीरिया से ग्रस्‍त होने पर श्‍वसन मार्ग बुरी तरह से प्रभावित…

वायरस या बैक्टीरिया को शरीर में फैलने से इस तरह रोकती हैं कोशिकाएं

जब भी रोग प्रतिरोधक क्षमता या इम्युनिटी की बात होती है तो हमारे मन में यह सवाल जरूर आता है कि आखिर हमारे शरीर की कोशिकाएं या तंतु किस तरह शरीर में आनेवाले वायरस से फाइट करते हैं। साथ ही यह जानने की इच्छा होती है कि कौन-सी सेल किस रूप में काम करती है। आइए, ऐसे हर सवाल का जबाव यहां जानते हैं… सबसे पहले काम करती है यह इम्युनिटी -हमारे शरीर में दो तरह की इम्युनिटी होती है। एक होती है इनेट इम्युनिटी और दूसरी होती है अडेप्टिव…