‘बीजेपी धर्म और शब्दों की माफ़िया हैः अखिलेश यादव

 

akhilesh

कन्नौज। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज समाजवादी गढ़ कन्नौज में पुराने रिश्तों की दुहाई देने संग सबसे रिश्ता जोड़ने की कवायद करते दिखे। कहा कि भाजपा सरकार बनने के बाद से जिले का विकास ठप हो गया है। सपा शासनकाल के काम रोक दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी धर्म की माफिया है।

अखिलेश गुरसहायगंज में पूर्व विधायक जमालुद्दीन सिद्दीकी, कन्नौज सदर के मकरंदनगर में सपा नेता शंकर शर्मा बंटी के यहां आयोजित निजी समारोह के साथ गुरसहायगंज में पूर्व लोहिया वाहिनी अध्यक्ष अरुण यादव व तिर्वा के अहेर में विपिन के यहां सांत्वना देने पहुंचे थे।

‘हमेशा धर्म को बनाते हैं ढाल’
अखिलेश ने आरोप लगाते हुए कहा कि ‘कभी जाति के पीछे, कभी धर्म के पीछे और कभी ऐसे मामले लाते है जो कभी जरूरत पड़ने पर जिस तरीके से अपनी जेब ओपीएम रखते है पूड़िया रखते हैं, जरूरत पड़ने पर पूड़िया बाहर निकाल लेते हैं। बीजेपी की पुड़िया से बचना जो इनकी जेब से निकलती है, यह नशे की पुड़िया है।’

उन्होंने कहा कि लोगों को बीजेपी से सावधान रहने की जरूरत है। यह धर्म माफिया और शब्द माफिया है। ये कब कहां आग लगा दें कुछ कहा नहीं जा सकता।

निकाय चुनाव में स्थिति का लिया जायजा
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने निकाय चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोली। तिर्वा रोड स्थित सपा कार्यालय में थोड़ी देर जनसभा के मंच में खड़े होकर कार्यकर्ताओं को सीख दिया। इस दौरान वो कन्नौज के विकास कार्यों के रुकने जाने पर नाराजगी भी जाहिर की।

‘जनता पर पूरा भरोसा’
पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के पहले चरण का चुनाव होने जा रहा है। मुझे भरोसा है जनता पर कि एक बार फिर जनता समाजवादी पार्टी के पक्ष में मतदान करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार अपने कार्यकाल का प्रचार कर रही है लेकिन आठ महीने में एक भी कार्य सरकार का जमीन पर नहीं दिखाई दे रहा।

‘वोट के लिए घूम रही सरकार’
अखिलेश ने कहा कि अगर आठ महीने का एक भी काम सरकार का एक भी फैसला जमीन पर दिखाई दे रहा हो तो हमें कोई बताये पूरी सरकार घूम रही है। यह वही सरकार जिसने कहा कि हम आलू के लिए व्यवस्था कर रहे है और चार सौ करोड़ से ज्यादा पैसा बजट में भी मिला।

अखिलेश ने पूछा, आप तो आलू के क्षेत्र के लोग हैं। बताओ किसानों का कितना लाभ पहुंचा है उस फैसले से, आज आलू कोल्डस्टोरेज में सड़ रहा है। किसान उठाने नहीं जा रहा है। यह हालत पैदा की है भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने और तब जब इन्होंने कहा कि हम कर्ज माफ करेंगे।

‘सरकार से किसान असंतुष्ट’
अखिलेश ने कहा कि यह जो कर्ज माफी वाला मामला था कुछ पैसा लोगों का माफ हो गया लेकिन अभी भी किसान संतुष्ट नहीं हैं। इस कर्ज माफी से कोई भी खुशहाली किसानों के पास नहीं आने वाली। पूरे काम रुके पड़े हैं।

‘कैसे बने दस लाख घर’
मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि हमने दस लाख गरीबों के घर बना दिये हैं और आठ महीने में दस लाख घर कैसे बन गये होंगे। जब 6 महीने बालू और मौरंग ही नहीं मिली। कोई हमें बता दो कि 6 महीना और अभी तक मौरंग और बालू का हाल क्या है। कैसे 10 लाख घर बने होंगे यह एक बड़ा सवाल है। मजदूर को काम नही जो-जो वादे किये एक पर भी सरकार खरी नहीं उतर रही है। सब काम रोक दिये ऐसी सरकार से क्या उम्मीद करोगे। इसीलिए सरकार भटक रही है। सरकार के लोग भटक रहे हैं। हमारा काम ही समाजवादियों का प्रचार है।

‘रोक दिया कन्नौज में विकास कार्य’
अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के लोग कन्नौज को कुछ देंगे नहीं बल्कि छीनेंगे। उन्होंने कहा कि सब काम कन्नौज का रोक दिया। मेडिकल कॉलेज रोक दिया, इन्जीनियरिंग कॉलेज रोक दिया। उन्होंने कन्नौज के लोगों के कहा कि कम से कम आलू के लिए सरकार से कुछ मांग लो।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment