कठुआ रेप केस: नाबालिग आरोपी की जमानत याचिका खारिज

Court_Gavelजम्मू : कठुआ के मुख्य न्यायिक मैजिस्ट्रेट ने 8 साल की बच्ची के रेप और मर्डर मामले में नाबालिग आरोपी की जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। अपराध शाखा ने कठुआ की अदालत में नौ अप्रैल को मामले के आठ आरोपियों में से सात के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था। नाबालिग आरोपी के खिलाफ अलग से आरोप पत्र दाखिल किया गया था।

मुख्य न्यायिक मैजिस्ट्रेट ने इस मामले में मंगलवार को एक आरोपी के द्वारा नाबालिग होने का हवाला देते हुए लगाई गई जमानत की अर्जी को खारिज कर दिया। पुलिस ने एक अन्य आरोपी के खिलाफ 10 अप्रैल को अदालत में अलग से आरोप पत्र दाखिल किया था, जिसे पहले नाबालिग बताया जा रहा था।

बता दें कि बच्ची का शव 17 जनवरी को जंगल में मिला था। वह एक हफ्ते पहले उसी इलाके में लापता हो गई थी। सरकार ने 23 जनवरी को मामले की जांच राज्य पुलिस की अपराध शाखा को सौंप दी थी। अपराध शाखा ने विशेष जांच दल गठित किया, जिसने दो विशेष पुलिस अधिकारियों और एक हेड कॉन्स्टेबल समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक प्रवक्ता ने मामले में कहा था कि चिकित्सा विशेषज्ञों की राय के आधार पर यह निश्चित है कि आरोपियों ने उस पर यौन हमला किया था। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विशेषज्ञों ने यह भी कहा था कि पीड़ित बच्ची का निजी अंग मूल स्वरूप में नहीं था।

चिकित्सकों की राय के आधार पर इस मामले में रणबीर दंड संहिता की धारा 376 को भी जोड़ा गया। विशेषज्ञों की राय के बाद अब इसमें भी कोई संदेह नहीं रहा है कि बच्ची को बंधक बनाकर रखा गया था और उसे मादक पदार्थ दिए जाते थे। उसकी मौत का कारण दम घुटना बताया गया है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment