Flash News
കോവിഡ് പ്രതിസന്ധിയിൽ പെട്ട ഇന്ത്യ 2020-21 സാമ്പത്തിക വർഷത്തിൽ ഇരട്ടി ഓക്സിജൻ കയറ്റുമതി ചെയ്തു   ****    അറസ്റ്റ് വാറണ്ടുകള്‍ നിരന്തരം അവഗണിച്ചു; സോളാര്‍ തട്ടിപ്പ് കേസില്‍ സരിതാ നായരെ അറസ്റ്റു ചെയ്ത് അഞ്ച് ദിവസത്തേക്ക് റിമാന്റ് ചെയ്തു   ****    രണ്ടു കോടി കടമുള്ള സംസ്ഥനത്തിന്റെ താത്ക്കാലിക അധിപന്‍ രാഷ്ട്രീയ ബഡായി അവസാനിപ്പിക്കണമെന്ന് പിണറായി വിജയനോട് അബ്ദുള്ളക്കുട്ടി   ****    കോവിഡ്-19 രൂക്ഷമായി; സ്വമേധയാ കേസെടുത്ത സുപ്രീം കോടതി കേന്ദ്ര സര്‍ക്കാരിന് നോട്ടീസ് അയച്ചു   ****    ഡല്‍ഹിയിലെ രണ്ട് ഗുണ്ടകള്‍ വിചാരിച്ചാല്‍ പശ്ചിമ ബംഗാളിനെ കീഴ്പ്പെടുത്താൻ കഴിയില്ല: മമ്‌ത ബാനര്‍ജി   ****   

विषैली हो गई हैं देश की नदियां, फैला रही हैं गंभीर बीमारियां

June 2, 2018

river

दिल्ली स्थित सेंटर फॉर साइंस ऐंड एनवायरमेंट (CSE) ने देश की नदियों को लेकर एक स्टडी की है। इसमें देश की 445 नदियों के पानी का अलग-अलग जगह पर टेस्ट किया गया। इस टेस्ट के नतीजे बताते हैं कि नदियों का प्रदूषण सामान्य नहीं है। इन नदियों के पानी में मानक से बहुत ज्यादा हेवी मेटल क्रोमियम, कॉपर, निकेल, लेड और आयरन जैसे तत्व कई गुना ज्यादा पाए गए। इस कारण इन नदियों का पानी इस्तेमाल लायक नहीं रहा और इन प्रदूषित नदियों के पानी से गंभीर बीमारियां होने का खतरा है।

9 साल में 154 और नदियां हुईं प्रदूषित 
स्टडी के अनुसार देश की कुल 275 नदियां प्रदूषित हैं। सबसे ज्यादा गंदा पानी गंगा और ब्रह्मपुत्र का है। इससे पहले साल 2009 में भी नदियों का एक सर्वे किया गया था जिसमें देश की 121 नदियों को प्रदूषित कैटिगरी में रखा गया था। यानी पिछले 9 साल में 154 और नदियों का पानी गंदा हो गया है। हम आपको बता रहे हैं देश की नदियों में कौन से हानिकारक तत्व पाए जा रहे हैं और इनसे कौन-कौन सी बीमारियां हो सकती हैं…

ये खतरनाक तत्व मानक से ज्यादा 
लेड 69 नदियों में
स्रोत: गाड़ियों का प्रदूषण, शीशा गलाना, कोयला जलाना, खनन
बीमारी: अनीमिया, किडनी की बीमारी, पेट में ऐंठन, जोड़ों में दर्द, फेफड़े और सांस की बीमारी

निकल 25 नदियों में
स्रोत: मेटल से जुड़े कारखाने
बीमारी: सीने में खिंचाव, ठंड और गर्मी लगना, खांसी, मांसपेशियों में दर्द, थकान और बेहोशी

आयरन 137 नदियों में
स्रोत: ट्रांसपोर्टेशन, स्टील-आयरन और बाकी मेटल के कारखानों से
बीमारी: लीवर सिरोसिस, डाइबीटीज, हार्ट अटैक का खतरे बढ़ना

कॉपर 10 नदियों में
स्रोत: हेवी मेटल के कारखानों से, खनन और इंडस्ट्रियल वेस्ट, लकड़ी जलाना
बीमारी: नाक-कान-मुंह में जलन, डायरिया, किडनी और लिवर को नुकसान

क्रोमियम 21 नदियों में
स्रोत: केमिकल और सीमेंट फैक्ट्रियों से निकलने वाला कचरा
बीमारी: लाल चकत्ते, अल्सर, फेफड़ों का कैंसर, किडनी-लिवर को नुकसान

कैडिमियम 25 नदियों में
स्रोत: इलेक्ट्रोप्लेटिंग वेल्डिंग, कैडिमियम प्रॉडक्ट फैक्ट्री से निकलने वाला कचरा
बीमारी: हड्डियों की कमजोरी, किडनी खराब होना, हाई ब्लड प्रेशर, कैंसर


Like our page https://www.facebook.com/MalayalamDailyNews/ and get latest news update from USA, India and around the world. Stay updated with latest News in Malayalam, English and Hindi.

Print This Post Print This Post
To toggle between English & Malayalam Press CTRL+g

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read More

Scroll to top