‘स्ट्रेस से अब घटेगी नहीं बल्कि बढ़ेगी इंसान की उम्र’

8-26स्ट्रेस यानी तनाव और चिंता को आमतौर पर नुकसानदेह माना जाता है, लेकिन अब वैज्ञानिकों ने स्ट्रेस की एक ऐसी कैटिगरी का पता लगाया है जिसकी वजह से इंसान की उम्र लंबी हो सकती है। इससे इंसान में बुढ़ापा आने की प्रक्रिया को धीमा करने और उम्र बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

चूहों पर किया गया स्ट्रेस के प्रभाव का अध्ययन
अमेरिका में ह्यूस्टन मेथडिस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट के वैज्ञानिकों ने यीस्ट, कुछ छोटे कीड़े-मकोड़ों और चूहों पर इस स्ट्रेस के प्रभाव का अध्ययन किया है। यीस्ट के मामले में वैज्ञानिकों को पता चला कि इस स्ट्रेस के प्रभाव से उम्र में बढ़ोतरी होती है। इस स्ट्रेस को वैज्ञानिकों ने क्रोमैटिन स्ट्रेस नाम दिया है जिसकी वजह से किसी के डीएनए में बदलाव आते हैं।

इंसान में भी होगी इस स्ट्रेस की मौजूदगी
वैज्ञानिकों ने बताया कि यीस्ट, चूहों के अलावा क्रोमैटिन स्ट्रेस दूसरे जीवों में भी होता है। जाहिर है इसकी मौजूदगी इंसानों में भी हो सकती है। अगर ऐसा हुआ तो यह इंसानों में बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा करने और लंबी उम्र की नई संभावनाओं को खोलने में मदद करेगा।

Source : Agency
Print Friendly, PDF & Email

Leave a Comment