फूंक-फूंक कर रख रही कदम, महाराष्ट्र में हर मामले में NCP को आगे कर रही कांग्रेस

1573784567

नई दिल्ली  :  महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार बनाने की कोशिश रंग लाती दिख रही है। तीनों पार्टियों के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम (सीएमपी) पर काफी हद तक सहमति है। इस सब के बावजूद कांग्रेस फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। क्योंकि, पार्टी इस मामले में एनसीपी पर पूरी तरह भरोसा नहीं कर पा रही है। इसी कारण कांग्रेस हर मामले में एनसीपी को आगे कर रही है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि न्यूनतम साझा कार्यक्रम, सरकार में हिस्सेदारी और दूसरे मुद्दों को लेकर सहमति बन जाने पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की जल्द बैठक हो सकती है। पढ़ें इस मामले में अब तक की दस खास और बड़ी बातें:

1: माना जा रहा है कि पवार 17 नवंबर को दिल्ली पहुंचकर सोनिया से मुलाकात कर सकते हैं। इस बैठक में ही साझा कार्यक्रम समेत अन्य मुद्दों पर अंतिम मुहर लगाई जाएगी। इसके बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी सोनिया गांधी से मुलाकात कर पार्टी को सरकार में शामिल होने का न्योता दे सकते हैं।

2: महाराष्ट्र से ताल्लुक रखने वाले कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि बातचीत सही दिशा में आगे बढ रही है। उम्मीद है कि जल्द ही सभी चीज साफ हो जाएंगी। मगर, एनसीपी को लेकर कुछ सवाल हैं। उन्होंने कहा कि यह बात समझ से परे है कि शाम तक का वक्त होने के बावजूद एनसीपी ने दोपहर में ही राज्यपाल को पत्र क्यों भेज दिया। इस पत्र में एनसीपी ने राज्यपाल से सरकार गठन की प्रक्रिया के लिए और समय देने का आग्रह किया था। इसके बाद ही राज्यपाल ने केंद्र से राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की थी।

3: शिवसेना का हिन्दुत्व एजेंडा भी कांग्रेस के लिए बड़ा मुद्दा है। कांग्रेस की कोशिश है कि भाजपा का साथ छोड़ने के बाद शिवसेना हिन्दुत्व पर अपने रुख में बदलाव करे। इसलिए, कांग्रेस शिवसेना के घोषणा-पत्र को भी पढ़ रही है, ताकि सरकार के गठन को अंतिम रूप देने से पहले सभी बातों पर तस्वीर साफ हो सके। इसके अलावा किसान, कृषि, बेरोजगारी और दूसरे मुद्दों पर तीनों दलों के बीच लगभग सहमति है।

4: शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने गुरुवार को एक अहम बैठक की। इस दौरान तीनों दलों के न्यूनतम साझा कार्यक्रम का लेकर गहन मंथन किया गया।

5: महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कोशिश में जुटीं शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम का मसौदा तैयार कर लिया है। गुरुवार को तीनों दलों के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में इस मसौदे को मंजूरी दी गई। अब इसे तीनों पार्टियों के शीर्ष नेतृत्व के पास भेजा जाएगा।

6: संयुक्त बैठक के बाद शाम को पहली बार तीनों दलों के नेता मीडिया के सामने आए और न्यूनतम साझा कार्यक्रम का मसौदा तैयार कर लेने की जानकारी दी। शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे ने कहा कि बैठक में साझा कार्यक्रम पर विस्तार से बातचीत हुई और तीनों दलों में तमाम मसलों पर सहमति बनी है।
7: उन्होंने कहा कि इससे पहले भी शिवसेना के नेताओं की एनसीपी और कांग्रेस के साथ बातचीत हुई थी, लेकिन कुछ मुद्दों पर एकराय कायम करना बाकी था।

8: शिंदे ने कहा, ‘दोबारा चुनाव न हो, इसलिए साझा कार्यक्रम बनाया गया है। इसे लेकर हम आगे जाने वाले हैं। एसीपी प्रमुख शरद पवार, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अब जल्द-जल्द से इस मसौदे पर राज्य की जनता के हित में फैसला करेंगे।’

9: एनसीपी की ओर से छगन भुजबल ने कहा कि मसौदे में किसान, बेरोजगारी, अल्पसंख्यक, एससी, ओबीसी और महिला सशक्तिकरण से संबंधित मुद्दे शामिल हैं। आगे जरूरत पड़ने पर इसमें बदलाव भी हो सकता है। महाराष्ट्र एक अलग स्थिति में अटका हुआ है, इसीलिए जल्द सरकार बनाना हमारी प्राथमिकता है।

10: वहीं, कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चह्वाण ने कहा, ‘दो दिनों तक हमारी बातचीत चली। सौहार्दपूर्ण महौल में सभी मसलों पर बात हुई। इसके बाद साझा कार्यक्रम का मसौदा तैयार किया गया। हालांकि, इस मसौदे में क्या-क्या है, इसका खुलासा उन्होंने नहीं किया।’

Print Friendly, PDF & Email

Please like our Facebook Page https://www.facebook.com/MalayalamDailyNews for all daily updated news

Leave a Comment