उत्तर प्रदेश चुनाव: समाजवादी पार्टी के गढ़ में वोटों की बारिश; भाजपा खेमे में अशांति

उत्तर प्रदेश में तीसरे चरण के मतदान का रुझान बीजेपी के लिए खतरे की घंटी है. तीसरे चरण के मतदान में 59 सीटों पर 60 फीसदी लोगों ने वोट डाला है, लेकिन समाजवादी पार्टी का गढ़ माने जाने वाले इलाकों में औसत से ज्यादा मतदान हुआ है। अगर जिलावार आंकड़े देखें तो सिर्फ दो ही जिलों- मैनपुरी और कासगंज में पिछले चुनाव के मुकाबले ज्यादा वोट पड़े हैं। लेकिन यादव बहुलता वाली करीब दो दर्जन सीटों पर औसत से दो फीसदी तक ज्यादा मतदान हुआ है। मैनपुरी, इटावा, फर्रूखाबाद और इसके आसपास के क्षेत्र में औसत से दो फीसदी तक ज्यादा मतदान हुआ है। इन इलाकों में यादव आबादी 30 से 50 फीसदी के बीच है। अखिलेश यादव की करहल सीट पर पिछली बार से तीन फीसदी ज्यादा मतदान हुआ है।

इसके विपरीत बुंदेलखंड के शहरी क्षेत्रों और पांच जिलों में मतदान का प्रतिशत औसत से नीचे है। अगर पिछले चुनाव से तुलना करें तो बुंदेलखंड के पांचों जिलों में 2017 के मुकाबले काफी कम वोट पड़े हैं। झांसी में 2017 के मुकाबले आठ फीसदी कम वोट पड़े हैं तो हमीरपुर और ललितपुर में पिछली बार के मुकाबले तीन फीसदी कम मतदान हुआ है। महोबा में भी मतदान पिछली बार से कम रहा है। इसी तरह कानपुर देहात में दो फीसदी और शहर में चार फीसदी मतदान कम हुआ है। ये सब भाजपा के असर वाले इलाके हैं और इन इलाकों की वजह से माना जा रहा था कि तीसरे चरण में हवा बदलेगी और भाजपा के पक्ष में माहौल बनेगा, लेकिन कम मतदान से उलटे भाजपा की चिंता बढ़ गई है।

ध्यान रहे पिछले विधानसभा चुनाव यानी 2017 में उससे पहले के चुनाव के मुकाबले दो फीसदी मतदान ज्यादा हुआ था तो भाजपा को करीब 40 सीटों का फायदा हुआ था और सपा व बसपा दोनों को बड़ा नुकसान हुआ था। लेकिन इस बार पिछली बार के मुकाबले मतदान में बड़ी गिरावट है और लगभग उतना ही मतदान हुआ है, जितना 2012 में हुआ था। 2012 के चुनाव में 16 जिलों की इन 59 सीटों पर 59.79 यानी करीब 60 फीसदी मतदान हुआ था और तब इनमें से 37 सीटें सपा ने जीती थी। 2017 में 62.21 फीसदी मतदान हुआ तो भाजपा 49 सीटों पर जीती। इस बार फिर मतदान घट कर 60 फीसदी पर आ गया है।

बहरहाल, रविवार को हुए मतदान में 16 जिलों की 59 सीटों पर शाम छह बजे तक वोट डाले गए। चुनाव आयोग के मुताबिक सात बजे के बाद तक अनेक जगह लोग कतार में खड़े थे। इसलिए उम्मीद की जा रही है कि मतदान का प्रतिशत बढ़ेगा। अंतरिम आंकड़ों के मुताबिक कुल 60.21 फीसदी मतदान हुआ है। इस चरण में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित कुल 627 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर लगी है। मुलायम सिंह यादव के पूरे परिवार ने रविवार को मतदान किया।

प्रीतम कपूर

Print Friendly, PDF & Email

Please like our Facebook Page https://www.facebook.com/MalayalamDailyNews for all daily updated news

Leave a Comment

Related News